You are here:Home » State » Punjab » Ludhiana

बापू सूरत सिंह खालसा की सेहत फिर खराब,लुधियाना के डीएमसी हस्पताल में पुलिस की सुरक्षा में पिछले साढे तीन महीने से दाखिल**जेलो में बंद सिख बंदियों की रिहाई को लेकर कई महीनो से बैठे है भूख हडताल पर**बापू सूरत सिंह खालसा के बेटे और संघर्ष कमेटी ने दी जानकारी,कहा गुरदीप सिंह खेडा व प्रोफेसर दविंदर पाल सिंह भुलर की रिहाई के बाद ही बापू तोड़ सकते है भूख हडताल

बापू सूरत सिंह खालसा के बेटे रविंदरजीत सिंह गोगी ने कहा कि बापू सूरत सिंह डीएमसी अस्पताल में पुलिस के कब्जे में है तथा उन्हें जबरन फीड किया जा रहा है। पहले उनकी तबीयत कुछ ठीक थी लेकिन पिछले दिनों से उनकी सेहत काफी खराब है तथा बापू का कहना है कि अब या फिर बंदी बाहर आएंगे या फिर उनके श्वास थमेंगे। बापू जी ने अंब साहिब से शुरू हुए संघर्ष को आगे बढाया है। अंब साहिब में सात बंदी सिंहों की रिहाई की अरदास की गई थी। जिसमें दो गुरदीप सिंह खेडा व प्रो. दविंदर पाल सिंह भुल्लर जेल में है।यदि यह भी रिहा हो जाते है तो संघर्ष कमेटी संघर्ष के बारे में अगला फैसला लेगी।
बंदी सिंहों की रिहाई के लिए चल रहे संघर्ष हेतु बनी संघर्ष कमेटी के सदस्य जंड सिंह ने कहा कि बापू सूरत सिंह का संघर्ष मानवाधिकारों की रक्षा पर आधारित हो। क्योंकि बापू का जन्म सिख परिवार में हुआ, इसलिए उनका संघर्ष सिखों के साथ जोड दिया गया लेकिन असल में कोई भी धर्म क इन्सान जिनकी सजा पूरी हो चुकी है, के बिना किसी देरी के रिहा किया जाना चाहिए। अंब साहिब में हुई अरदास के बाद जारी आंदोलन के तहत हरदीप सिंह, वरियाम सिंह, बाज सिंह रिहा हुए। बाबा लखबीर सिंह, नगिंदर सिंह को जमानत व पैरोल मिली। यह संघर्ष की कामयाबी थी लेकिन अभी लखविंदर सिंह, गुरमीत सिंह, शमशेर सिंह, लाल सिंह, मनजीत ङ्क्षसह नाभा जेल के अलावा वरियाम सिंह, गुरदीप सिंह खेडा, दविंदर पाल सिंह भुल्लर शामिल है। जिनमें वरियाम सिंह बाहर आए है। बाकी अभी बाकी है।
उन्होंने कहा कि जो भी सियासी पार्टी मानवाधिकारों की रक्षा करती है, वह सिखों की रिहाई करवाकर वोट पाने का पूरा हक रखती है। इसके लिए चाहे आम आदमी, शिरोमणि अकाली या कांग्रेस ही क्यों न हो। जो भी मानवाधिकारों के संबंध में स्टैंड लेगी, उनके साथ खडे है। यह हडताल तभी खत्म होगी जब अंब साहिब में की गई अरदास पूर्ण होगी। फिर उसके बाद की रूपरेखा संघर्ष कमेटी विचार करेगी।

To keep yourself update for Ludhiana news, follow us on facebook or twitter.